728x90 AdSpace

Latest News

आखिर क्यूँ पीएम मोदी ने अनिल बोकिल को 9 मिनट का समय देकर 2 घंटे तक सुना था ?





जिस इंसान को मोदी ने 9 मिनट का समय देकर 2 घंटे तक सुना था और लगवा दिया 500/1000 के नोट्स पर प्रतिबंध, सुनिए अर्थक्रांति के जनक अनिल बोकिल का पूर्ण भाषण. अनिल बोकिल पेशे से पुणे (महाराष्ट्र) के एक इंजीनियर है और यह अर्थक्रांति संस्थान के एक बहुत ही मुख्य सदस्य है। आपको बता दे कि, अनिल बोकिल वर्ष 2014 में चुनाव से पहले ही नरेंद्र मोदी से मिल चुके थे, और उस समय ही उन्हें मुलाकात के लिए सिर्फ 9 मिनट का ही समय दिया गया था। लेकिन जब भ्रष्टाचार और नकली रुपयों को रोकने के लिए उन्होंने अपना प्रस्ताव सुनाने लगे तो, नरेंद्र मोदी ने उनका यह प्रस्ताव 2 घंटों तक सुना था।


अर्थक्रांति संस्थान एक चार्टर्ड एकाउंटेंट और इंजीनियर्स का एक ग्रुप है जो इकॉनोमिक एडवैजरी बॉडी है। अर्थक्रांति ने ही पीएम मोदी को काला धन, महंगाई, भ्रष्टाचार, बेरोजगारी और आतंकवादियों को फंडिंग जैसी समस्याओं को रोकने के लिए यह प्रस्ताव दिया था। हालाँकि, ये फैसला लेना बहुत ही मुश्किल और चुनौतियों से भरा हुआ था लेकिन पीएम मोदी ने सब कुछ सम्भालते हुये इस प्रस्ताव को पास कर दिया।
  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

0 comments:

Post a Comment

Item Reviewed: आखिर क्यूँ पीएम मोदी ने अनिल बोकिल को 9 मिनट का समय देकर 2 घंटे तक सुना था ? Description: Rating: 5 Reviewed By: Ashish Shukla
Scroll to Top